09 June 2010

डॉक्‍टर मामा के लिए जादू की कविता और गाना।

पता है, आज मेरे डॉक्‍टर मामा का जन्‍मदिन है।


अरे वही डॉक्‍टर मामा जिन्‍होंने इत्‍ती सारी कविताएं और पहेलियां बुझाईं हैं मेरे लिए।
मेरे डॉक्‍टर मामा इलाहाबाद में रहते हैं। और मेरे पैदा होने से लेकर अब तक उन्‍होंने मुझसे बहुत सारी बातें की हैं। चिट्ठियां लिखी हैं। गाने सुनवाए हैं और कविताएं भी भेजी हैं। आपमें से जो लोग मेरे ब्‍लॉग पर नियमित आते रहते हैं, वो डॉक्‍टर मामा को ज़रूर पहचानते होंगे। ख़ासकर समीर अंकल। जिन पर वो हमेशा पहेलियों के बाउंसर मारते रहते हैं।


नवंबर में जब मैं इलाहाबाद गया था तब तो मैं छोटा-सा था ना, पर डॉक्‍टर मामा की गोद में खूब उछल-कूद की थी मैंने। बड़ा मज़ा आया था। अरे हां..याद आया। डॉक्‍टर मामा मुझे इलाहाबाद में रेडियो की दुनिया की जानी-मानी हस्‍ती बड़े भैया यानी श्री विजय बोस से मिलवाने भी ले गए थे। और मैंने 'बड़े भैया' से बहुत सारी बातें पूछीं। सच्‍ची। ये देखिए तस्‍वीर। IMG_4715मम्‍मा कहती हैं कि इलाहाबाद में रहने वाले और रेडियो सुनने वाले सभी लोग 'बड़े भैया' को जानते हैं। उनसे सबकी बचपन की यादें जुड़ी हैं। देखिए मेरी भी यादें जुड़ गयीं ना। हां तो आज डॉक्‍टर मामा का जन्‍मदिन है इसलिए सबसे पहले उनके लिए ये केक।
1चॉकलेट-केक है ये। अभी दो दिन पहले मैं मम्‍मा-पापा के साथ ribbons and ballons  गया था। मम्‍मा ने सोचा कि 'पेस्‍ट्रीज़' पैक कराके घर ले आयेंगे। लेकिन मैं जैसे ही शॉप में पहुंचा मुझे फौरन याद आ गया कि मेरा birthday cake तो यहीं से लिया गया था। बस मैंने जिद पकड़ ली और पाइनएपल और फ्रेश-फ्रूट-पेस्ट्री चखकर ही माना। मम्‍मा को बड़ी हैरत हुई कि मुझे कैसे याद है ये शॉप। मैं जादू हूं ना कुछ भी कर सकता हूं।


केक तो हो गया, अब ज़रा डॉक्‍टर मामा को एक गाना भी सुनवा दिया जाए। भई डॉक्‍टर मामा का जन्‍मदिन है तो 'मामाजी' वाला ही गाना सुनते हैं--

song: mama ji ke rocket pe hum


singer: asha bhosle
film: didi
lyrics: sahir
music: n. dutta
year: 1959



मज़ा आया ना। अब वो कविता, जो मैंने डॉक्‍टर मामा के लिए लिखी है--ख़ास उनके जन्‍मदिन पर।

डॉक्‍टर मामा कितने अच्‍छे
थोड़े बड़े हैं थोड़े बच्‍चे
दिल के हैं ये कितने सच्‍चे
पतंग उड़ाने में हैं कच्‍चे kite

कभी-कभी ये छत पर जाते

टाई लगाकर पतंग उड़ाते

पतंग उड़ाकर फोटो खिंचाते

पहेलियां भी खूब बुझाते

डॉक्‍टर मामा कलाकार हैं 
ज्ञान के ये भंडार हैं

सचमुच बड़े मज़ेदार हैं
डॉक्‍टर मामा शानदार हैं

कितना अच्‍छा हो अगर
..……………………..

डॉक्‍टर मामा बच्‍चे बन जाएं

जादू के संग नाचें-गाएं

पतंग उड़ाएं, पेंच लड़ाएं

कंचे खेलें, सायकिल चलाएं

मेरे डॉक्‍टर मामा को
जन्‍मदिन की शुभकामनाएं


डॉक्‍टर मामा, कैसी  लगी मेरी कविता। आपको जन्‍मदिन की एक बार फिर खूब सारी शुभकामनाएं। अब मैं जा रहा हूं केक खाने।
वैसे भी....
मैं जादू हूं ना, मैं कुछ भी कर सकता हूं।

12 comments:

mukti said...

वाह जादू जी ! सुबह-सुबह आपकी पोस्ट पढकर अच्छा लगा. आपके डॉक्टर मामा को जन्मदिन की ढेर सारी शुभकामनाएं और आपको खूब सारा प्यार. ...गाना भी अच्छा लगा. पहली बार सुना. वैसे दीदी फ़िल्म के और गनी सुने हैं... केक भी सुन्दर है...स्वादिष्ट नहीं कह सकती क्योंकि चखा नहीं...
बड़े भैया का नाम तो बहुत सूना था, आज आपने मिलवा भी दिया... आपको बहुत-बहुत धन्यवाद !

Udan Tashtari said...

वाह वाह!!! डॉक्टर मामा पहेली वाले मामा को जन्म दिन की बहुत मुबारक बाद और शुभकामनाएँ. मामा जी केक खिलाओ...इत्ती पहेलियाँ पूछी है कि भूख लग आई मुझे और जादू को. :)

उन्मुक्त said...

मामा जी को जन्मदिन की शुभकामनायें।

समीर जी तो कैनाडा वाले हैं केके खाने रुचि रखते होंगे। हम तो खीर वाले हैं।

विनीत कुमार said...

वाह रे मामा के भक्त जादू। मन मोह लिया।..

संगीता पुरी said...

डॉ मामा के जन्‍मदिन पर बहुत सुंदर लेख लिखा .. उन्‍हें मेरी ओर से भी बहुत बधाई और शुभकामनाएं !!

माधव said...

जादू की जय हो , मामा को जन्मदिन की बधाई मेरी तरफ से भी देना

noopur said...

jadooke mamaji ko meri taraf se bhi janmdin ki hardik shubhkamnayein...sundar kavita likhi jadoojee:)

डॉ दुर्गाप्रसाद अग्रवाल said...

डॉक्टर मामा को हमारी तरफ से भी हैप्पी बर्थ डे.

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

आपकी इस सुन्दर पोस्ट की चर्चा मैंने यहाँ भी की है!
--
http://mayankkhatima.blogspot.com/2010/06/1.html

"डॉक्टर मामा" said...

बाप रे बाप!

इत्ती सारी बधाइयाँ तो हमें आज तक पहले किसी भी बर्थ-डे पर नहीं मिलीं,जादू !....वो भी तुम्हारी बदौलत !!

सचमुच तुम कुछ भी कर(या करवा)सकते हो ।

आगे क्या कहें ? तुम्हारी आज की ये पोस्ट और उस पर कमेन्ट्स पढ़कर हम तो मारे ख़ुशी के पागल से हो गये हैं ।

यहाँ पर सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद !

हम अभिभूत हैं-आप सबकी आत्मीयता और प्यार से !

Manish said...

आपकी दुनिया ऐसी ही स्नेहमयी बनी रहे, आपके मामा जी ने ये संदेसा और आशीर्वाद भिजवाया है,
मैं भी इलाहाबाद में ही रहता हूँ न!!
आप जादू हैं - कुछ भी कर सकते हैं तो मैं कम से कम ये नहीं कर सकता, वैसे आपके मामा जी बहुत अच्छे हैं....
मेरे मामा तो केवल स्नो व्हाईट की कहानी सुनाया करते थे....मेरे को पहेली तो दुनिया बुझा रही हैं :) :)

ज्ञानदत्त पाण्डेय Gyandutt Pandey said...

1. जादू के ब्लॉग पर आना सदा अच्छा लगता है।
2. और देर से ही सही, जादू के मामा को बहुत बधाई! गाना तो बहुत भला लगा!

जादू क्‍यों

हम हैं जादू के मम्‍मी-पापा ।
'जादू' अपनी मुस्‍कानें लेकर आया है हमारी दुनिया में ।
हम चाहते हैं कि ये मुस्‍कानें हम दुनिया के साथ बांटें ।

जादुई दिन

Lilypie - Personal pictureLilypie Second Birthday tickers

  © Free Blogger Templates Spain by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP