10 December 2009

जादू पहुंचा हाजी-अली और महालक्ष्‍मी मंदिर

पिछली पोस्‍ट में मैंने अपने सैर पर निकलने का ब्‍यौरा दिया था और बताया था कि घर से निकलकर ऋत्विक भैया को स्‍कूल से पिक-अप करते हुए हम जा पहुंचे ओबेरॉय
मॉल । लेकिन अभी तक मैंने आपको ये नहीं बताया कि हम जा कहां रहे थे । बांद्रा-वरली-सी-लिंक को पार करके हम वरली आ पहुंचे और फिर पहुंचे हाजी-अली और महालक्ष्‍मी मंदिर । हम घर से यहीं आने के लिए तो निकले थे । 
IMG_5165हाजी अली का ये नज़ारा आपने बहुत सारी फिल्‍मों में देखा होगा । पापा कहते हैं कि ए.आर.रहमान ने फिल्‍म 'फि़ज़ां' में शानदार क़व्‍वाली बनाई थी हाजी अली की । समुद्र में जब दूसरी तरफ़ नज़र घुमाएं तो ये दृश्‍य दिखता है । सामने नेहरू प्‍लेनेटेरियम की गोल इमारत है ।  IMG_5166यहां इतनी कड़ी धूप थी कि मम्‍मी ने अपना दुपट्टा मुझे ओढ़ा दिया ।
IMG_5168

हम हाजी-अली के रास्‍ते पर आगे बढ़ रहे थे ।  तभी मैंने देखा कि एक नाव पर एक पक्षी बैठा था । मम्‍मी-पापा फ़ौरन समझ गए और उन्‍होंने मुझे बताया कि ये बगुला
है । IMG_5169हाजी-अली से लौटते हुए मैं शायद थक गया था इसलिए बाहर आते-आते मैं पापा की गोद में सो गया ।   IMG_5171

यहां से हम पहुंचे महालक्ष्‍मी-मंदिर । जहां बेहद भीड़ थी । शोर सुनकर मेरी नींद खुल गई ।   
IMG_5160

महालक्ष्‍मी मंदिर से हम हीरा-पन्‍ना मॉल में गए । और फिर वापसी । जिसके बारे में मैं कल आपको बताऊंगा । आपको मेरा ये सैर-सपाटा कैसा लगा ज़रूर बताईये । फिलहाल मैं चला अपने वॉकर पर मस्‍ती करने ।

मैं जादू हूं ना कुछ भी कर सकता हूं ।

5 comments:

रंजन said...

जादू.. मिठाई दिखा रहे हो.. खिला नहीं रहे.. बहुत प्यारे लग रहे हो..

प्यार..

डॉ दुर्गाप्रसाद अग्रवाल said...

मुझे जादू की यह दुनिया बहुत अच्छी लगी. एक निराला अन्दाज़. और उतना ही प्यारा भी.

Udan Tashtari said...

मजा आया जादू के साथ घूमने में..हमें भी पुरानी यादें आईं. अब कल आगे बताना. :)

Anonymous said...

testing testing

pratima sinha said...

जादूजी पता है, मुंबई शहर मुझे भी बहोSSSSत अच्छा लगता है. आपके बहाने, आपके ही साथ हम भी घूम रहे हैं. वाकई मज़ा आ रहा है. एस्सेल world कब ले चलेगें ?

जादू क्‍यों

हम हैं जादू के मम्‍मी-पापा ।
'जादू' अपनी मुस्‍कानें लेकर आया है हमारी दुनिया में ।
हम चाहते हैं कि ये मुस्‍कानें हम दुनिया के साथ बांटें ।

जादुई दिन

Lilypie - Personal pictureLilypie Second Birthday tickers

  © Free Blogger Templates Spain by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP