24 August 2009

जादू ने किया गणपति-दर्शन और ऐसी लागी लगन

मैंने आपको कल ही बता दिया था कि मैं शिल्‍पा आंटी और मंगेश अंकल के घर गणपति-दर्शन के लिए जाने वाला हूं । 'बारिश-मौसी' झमाझम बरस रही थीं । पर मैंने कहा--ख़बरदार जो मुझे रोका तो । आज मैं रूकने वाला नहीं हूं । अच्‍छा बताईये कहां से शुरू करूं । शुरू से । ठीक है । हुआ ये कि दिन में ढाई बजे कि आसपास प्रदीप अंकल और रेशमा आंटी आईं । रेशमा आंटी से ये मेरी दूसरी मुलाक़ात थी । जब मैं क़रीब पंद्रह दिन का था तब आईं थी मुझसे मिलने । अब इतने में ही जान-पहचान गहरी थोड़ी होती है ना । इसलिए आते ही रेशमा आंटी ने मुझे गोद में लिया तो मैंने अपना 'इमरजेन्‍सी अलार्म' बजा दिया । जे देखिए ।
IMG_3747
लेकिन बाद में मेरी रेशमा आंटी से अच्‍छी दोस्‍ती हो गयी । जिसकी तस्‍वीरें आप 'जादुई-तस्‍वीरें' पर क्लिक करके देख सकते हैं । ख़ैर..इसके बाद हम सब मंगेश अंकल और शिल्‍पा आंटी के घर पहुंचे । और वहां गणपति के दर्शन किए ।
IMG_3748
मैंने तो आपको कल ही बताया था कि मुझे तो गणपति अपने फ्रैन्‍ड जैसे लगते हैं । इसलिए वहां पहुंचते ही मुझे लगा कि मुझे उनके साथ खेलना चाहिए । किसी तरह सबने समझा-बुझाकर मुझे बैठा दिया । देखिए मम्‍मी की गोद में बैठा हूं पर 'नज़र' वहीं टिकी है ।
IMG_3749-1देखिए मेरी नज़र यहां टिकी हुई थी । मंगेश अंकल और शिल्‍पा आंटी ने कितनी बढिया सजावट की है ना । IMG_3756मम्‍मी किसी से बातें कर रही हैं । और मैं.....। मेरी नज़रें 'वहीं' 'वहीं' 'वहीं' ।
IMG_3758-1जब मम्‍मी ने पूजा शुरू की और प्रसाद चढ़ाया तो मुझे लगा कि ये मेरे 'केले' कहां जा रहे हैं ।  वैसे मैंने प्रसाद की थाली पर भी ज़ोर से झपट्टा मारा । वो तो पापा-मम्‍मी ने संभाल लिया वरना.....।IMG_3764फिर ये भी हुआ
IMG_3765-1वो आए मम्‍मी की गोद में ये उनकी फितरत है
कभी गणपति को कभी बाकी लोगों को देखते हैं ।


IMG_3767-1मंगेश अंकल ने वहां अनूप जलोटा की सीडी लगा रखी थी । सब लोग मस्‍त होकर गुनगुना रहे थे--'ऐसी लागी लगन मीरा हो गयी मगन' । पापा ने बताया कि अपने बचपन में उन्‍होंने अनूप जलोटा का एक कंसर्ट देखा था जिसमें अनूप जलोटा अंकल ने गले की कलाबाजियां करते हुए देर तक 'ऐसी लागी लगन--मीरा हो गयी मगन' गाया
था । फिर पापा ने बताया कि उन्‍हें 'जाना था गंगा पार प्रभू केवट की नाव चले' भी बहुत पसंद है । वो भी बचपन में खूब सुनी रचना है । चलते चलते उनकी तस्‍वीरें जिन्‍होंने जादू को 'गणपति-दर्शन' के लिए बुलाया ।
IMG_3768
IMG_3776-1 यहां सामवेद भैया की भी तस्‍वीर होनी चाहिए थी । पर वो तो अपने दोस्‍तों के साथ खेल रहे थे । इसलिए मैं उनकी फोटो नहीं ले पाया ।



अरे सब छोटे-बड़े जोर से बोलो रे 'गणपति बप्‍पा मोरया' ।
कल मैं इसी मौक़े की कुछ और तस्‍वीरें दिखाऊंगा ।


अरे हां ज्ञान-अंकल को कल लगाया गया 'बाल-गणेश' वाला वीडियो बड़ा पसंद आया । वो तो खूब नाचे । आपने देखा क्‍या वो वीडियो । आप नाचे क्‍या ।

4 comments:

संगीता पुरी said...

'गणपति बप्‍पा मोरया' ।

Ram said...

Just install Add-Hindi widget button on your blog. Then u can easily submit your pages to all top Hindi Social bookmarking and networking sites.

Hindi bookmarking and social networking sites gives more visitors and great traffic to your blog.

Click here for Install Add-Hindi widget

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey said...

वाह! एक फोटो गणेश जी का मुखौटा लगा खिंचवाओ!

SHILPA said...

MAMTAJI--YUNUSJI.

V REALISE ONLY ONE THING.JAADOO IS BLESSED WITH SOME DIVINE POWER.HE GOT THE PERFECT PARENTS FOR HIS ABUNDANCE LIFE.JUST LOVE HIM.GOD IS TAKING CARE OF HIM...V ALL LOVE JAADOO. ....SAMVED,MANGESH,SHILPA.

जादू क्‍यों

हम हैं जादू के मम्‍मी-पापा ।
'जादू' अपनी मुस्‍कानें लेकर आया है हमारी दुनिया में ।
हम चाहते हैं कि ये मुस्‍कानें हम दुनिया के साथ बांटें ।

जादुई दिन

Lilypie - Personal pictureLilypie Second Birthday tickers

  © Free Blogger Templates Spain by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP