29 July 2009

समीर अंकल को मिला ईनाम : डॉक्‍टर मामा से और मेरी तरफ से 'हैपी-बड्डे'

दो दिनों से मैं अपना ब्‍लॉग नहीं लिख पाया । फिर आज ही प्रशांत चाचू का चेन्‍नई से कमेन्‍ट आया :
अरे दो दिन हो गए और जादू-बेटा का अता-पता नहीं है । कहां हैं जादू जी ।

इसलिए मैंने सोचा कि अब तो बताना ही पड़ेगा सबको । पता है परसों मेरी मम्‍मी का गला ख़राब हो गया था । उसके बाद कल शाम को उन्‍हें बुख़ार आ गया । कल शाम को तो मम्‍मी डॉक्‍टर के पास नहीं गयीं । पर आज मैंने उनकी एक नहीं सुनी और उन्‍हें डॉक्‍टर के पास लेकर गया । अरे हमारे घर के पास ही तो हैं हमारे फैमिली-डॉक्‍टर । बस उनको बोला--'अंकल ये देखो मम्‍मी को बुख़ार है । ऐसी दवा दीजिए कि जल्‍दी ठीक हो जाएं । वरना मैं आपके ऊपर 'छू छू' कर दूंगा । डॉक्‍टर हंसे और उन्‍होंने फौरन अच्‍छी दवा दे दी । आप भी अपना ख्‍याल रखिएगा ।

इलाहाबाद वाले डॉक्‍टर मामा ने 'समीर अंकल' को उनकी पहले का सही जवाब देने के लिए ईनाम भी भेजा है । ये ईनाम है उनकी ऑटोग्राफ़ डायरी के दो पन्‍ने ।
Dinkar Autogrph-E10Yash Malviya Autogrph-E11

अरे हां...आज तो समीर अंकल का जन्‍मदिन भी है । मेरी तरफ से उनको केक । इस पर चार मोमबत्तियां इसलिए क्‍योंकि मेरे प्‍यारे समीर अंकल मन से अभी भी इत्‍ते बड़े ही हैं ।
happy-birthday-cake इलाहाबाद वाले डॉक्‍टर मामा ने ये बात भी लिखी है--

वैसे इस पन्ने में हमने अभी और जगह बचा रखी है,यश अंकल के बेटे अचिन्त्य भैया के भी ऑटोग्राफ़ के लिये,जो ख़ुद भी बहुत अच्छी कविताएँ लिखते हैं और जादू नम्बर एक जी के साथ  उनकी ही क्लास में पढ़ते थे ।
"उड़न-तश्तरी" अंकल को बता देना ( ताकि अपने बहीखाते में अभी से दर्ज़ कर लें )

इसमें जो 'जादू नंबर एक' का जिक्र हुआ है ना, वो मेरे बड़े भैया हैं । मेरे इलाहाबाद वाले डॉक्‍टर मामा के बेटे । पता है वो मेरे लिए एक कंप्‍यूटर गेम बना रहे हैं । अगर इस बात को सही करके बोलूं तो वो मेरा कंप्‍यूटर गेम बना रहे हैं । 'जादू' का कंप्‍यूटर गेम' । डॉक्‍टर मामा ने लिखा है--

............अब तो जादू नम्बर एक और दो जी बहुत बड़े हो गये हैं, हमसे भी लम्बे। नम्बर एक अब भी खेलते हैं, पर कम्प्यूटर से । पहले तो कम्प्यूटर गेम खेलते थे, अब न जाने क्या-क्या सॉफ़्टवेयर और कम्प्यूटर गेम ख़ुद ही बनाते रहते हैं । हमने कहा कि जादू नम्बर तीन के लिये भी एक गेम बना दो, तो बोले कि जादू "के लिये" क्या ख़ुद "जादू पर ही" गेम बना देंगे। लेकिन उस गेम में रखें क्या समझ नहीं  आ रहा है । एक तो  यह हो सकता है कि जादू जी ज़ोर-ज़ोर से गला फाड़कर रो रहे हैं और प्लेयर उन्हें तरह-तरह से चुप कराने की कोशिश कर रहे हैं। जो जितनी ज़्यादा बार चुप कराये,उसका उतना ही ज़्यादा स्कोर। या फिर जादू जी दूसरों के घर से चीजें उठा-उठा कर ला रहे हैं । जितने ही ज़्यादा आइटम उतना ही ज़्यादा स्कोर। यह भी हो सकता है कि जादू जी छू-छू कर रहे हैं और सब लोग बचने के लिये भाग रहे हैं। जो जितनी ज़्यादा बार ख़ुद को बचा ले, उतना ज़्यादा स्कोर । अब जैसा ठीक हो, तुम बताना ।


तो समझे आप....ताज़ा ख़बर ये है कि मेरा यानी 'जादू' का 'एक्‍स्‍क्‍लूसिव कंप्‍यूटर गेम' बन रहा है । मुझे तो लगता है कि तीनों ही 'ऑप्‍शन' अच्‍छे हैं । अब जैसा मेरे अंचित भैया उचित समझें, गेम बना दें ।

कल मैं आपको बताऊंगा कि 'जादू नंबर एक' जिनका जिक्र ऊपर के बक्‍से में हुआ है, कैसे-कैसे खिलौनों से खेलते थे । इसी बहाने मैं खिलौनों पर बातें भी करूंगा और मेरा मन हुआ तो मैं कोई गाना भी सुना सकता हूं । सच्‍ची ।

जादू हूं ना मैं कुछ भी कर सकता हूं ।

5 comments:

रंजन said...

वाह जादू.. तेरा जबाब नहीं... देखते है कल तेरे पिटारे से क्या निकलता है..

Udan Tashtari said...

बहुत धन्यवाद जादू आपका और मामा जी का. केक तो बहुत स्वादिष्ट रहा. :)

Anonymous said...

"उड़न तश्तरी" जी !
जादू जी न बताते, तो हमको तो पता भी न चलता । ख़ैर अभी भी पाँच मिनट बाकी हैं आज का दिन और तारीख़ बदलने में ।

जनम दिन तुम्हारा,(देखें कब)मिलेंगे लड्डू हमको
बधाई हो बधाई, जनम दिन की तुमको ।

इसलिये ( इसी लड्डू की उम्मीद में )(नॉट-बिलेटेड)हैप्पी बर्थे डे !!

- "मामा जी" ( जादू के;आपके नहीं )

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey said...

जब तुम्हें इतनी जल्दी पता चल गया कि मम्मी की सेहत की फिक्र करनी चाहिये, तब तो तुम सही में जादू हो - राजा बेटा!

सागर नाहर said...

आप मम्मी को डॉक्टर के पास ले गये?
कुछ ज्यादा बड़ी गप्प नहीं हांक दी?
बढ़िया है भई नाम जादू है तो पता नहीं क्या क्या कर सकते हो।
:)

जादू क्‍यों

हम हैं जादू के मम्‍मी-पापा ।
'जादू' अपनी मुस्‍कानें लेकर आया है हमारी दुनिया में ।
हम चाहते हैं कि ये मुस्‍कानें हम दुनिया के साथ बांटें ।

जादुई दिन

Lilypie - Personal pictureLilypie Second Birthday tickers

  © Free Blogger Templates Spain by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP